पिछला

ⓘ कुशल पाल सिंह. कुशाल पाल सिंह का जन्म १५ अगस्त १९३१ को बुलन्दशहर के एक जाट परिवार में हुआ था। के पी सिंह ने भारत की सबसे बडी रियल्टी कंपनी की स्थापना की। डी एल ..



                                     

ⓘ कुशल पाल सिंह

कुशाल पाल सिंह का जन्म १५ अगस्त १९३१ को बुलन्दशहर के एक जाट परिवार में हुआ था। के पी सिंह ने भारत की सबसे बडी रियल्टी कंपनी की स्थापना की। डी एल एफ, आज बिक्री, राजस्व एवं पूंजी के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी रियल्टी कंपनी है।

सिंह ने मेरठ कॉलेज से विज्ञान में स्नातक उत्तीर्ण किया तथा इंग्लैंड से वैमानिकी की शिक्षा प्राप्त की। बाद में वे भारतीय थलसेना में अधिकारी चुने गये। यहाँ वे प्रसिद्ध घुड़सवारी टुकडी द डेक्कन होर्स में शामिल हुये। सन १९६० में अमेरिकन इलैक्ट्रिक कंपनी के साथ जुड़े और १९७९ में डी एल एफ के साथ विलय के बाद संयुक्त कंपनी के प्रबंध निदेशक बने।

                                     
  • उनक सबस बड क र य र जसम द झ ल पर प ल ब धन और कल प र ण न च क क न र म ण कह ज सकत ह क शनगढ क र ज र प स ह क प त र च र मत पर और गज ब क नजर
  • ज ट और भ रत य अरबपत क शल प ल स ह द व र क य ज रह ह फ र ब स क 2009 क सबस अम र अरबपत य क स च क अन स र क शल प ल स ह अब द न य क 98व सबस
  • स ग तक र म 2009 - एड ल डब टर, अ ग र ज क र क ट ख ळ ड 1931 - क शल प ल स ह ड एल. एफ. ल म ट ड - क र ट न स ट प र ण, च च च धर क रचय त
  • ल ग क एकत र त कर आ द लन क य क ष ण क म र स ह अपन प त क ल क प रस द स ह क क शल न त त व म एक क शल क र यकर त क र प म JP आ द लन म अपन उपस थ त
  • भव न ग ज, ब ब ग ज, प रत पगढ क प ह द इ टर क ल ज प रत पगढ र य बद र प ल स ह इ टर क ल ज ब र प र प रत पगढ मह द व प रस द इण टर क ल ज भनईप र प रत पगढ
  • और व क स क आध रश ल रखन म महत वप र ण य गद न रह ह लगभग 3 दशक तक क शल प रश सक क र प म जन - जन क भ वन ओ स व दन ओ क समझत ह ए उन ह न प रगत
  • म ह रभ ज क र ज य क स म ए दक ष ण म र जक ट क र ज य, प र व म ब ग ल क प ल श सक और पश च म म म लत न क श सक क स म ओ क छ त ह ई बत य ह 915 ईस व
  • ज वन - य पन करन ह सम यक आज व ह 6. सम यक व य य म - अक शल धर म क त य ग तथ क शल धर म क अन सरण ह सम यक व य य म ह 7. सम यक स म त - इसक आशय वस त ओ
  • कमल न थ जन म 18 नवम बर 1946 मध य प रद श क वर तम न म ख यम त र एव एक क शल भ रत य र जन त ज ञ ह व प र व म क द र य शहर व क स म त र एव क द र य
  • ज तक य ज तक प ल य ज तक कथ ए ब द ध ग र थ त र प टक क स त तप टक अ तर गत ख द दकन क य क व भ ग ह इन कथ ओ म भगव न ब द ध क प र व जन म क कथ य
  • य ग य और क शल श सक थ ज सन ई. स ई. तक श सन क य इस द र न उसन औद तप र ब ह र शर फ म एक मठ तथ व श वव द य लय क न र म ण करव य प ल श सक ब द ध
                                     
  • स आज द ह द फ ज क गठन क य गय थ म हन स ह क ह थ म इसक कम न द गई थ मगर न त त व क षमत म क शलत क कम तथ स गठन क स च र र प स नह चल
  • त जल अम त च द कर - अश व न शरद क लकर - ज हन सच न शर म - समर क शल प ज ब - क शल म ग ध ग डब ल - आक क ष फ र स क व श षज ञ रव द र म कन भ रद व ज
  • स दर स ह भ ड र ट रस ट क क र यक रम आज क ट म 11 क सम म न ह ग www.bhaskar.com. Bhaskar News Network. अभ गमन त थ 23 June 2018. प ल क इत ह सक र
  • स म ल और उनक व च र स प रभ व त ह कर द श क ल ए समर प त ह गय एक क शल स न पत क भ त उन ह न अपन प रत भ क पर चय हर क ष त र सत य ग रह ह
  • य ग य और क शल श सक थ ज सन ई. स ई. तक श सन क य इस द र न उसन औद तप र ब ह र शर फ म एक मठ तथ व श वव द य लय क न र म ण करव य प ल श सक ब द ध
  • पहल स हल क उप ध ध रण करन व ल र ज स हब ह स इनक न कट स ब ध थ स ह क म रन क क रण यह र ज स हल कहल य व जय ह श र ल क क पहल र ज थ
  • कम समय क भ तर द ल ल म ट र क न र म ण क क र य क स सपन क तरह ब हद क शलत और श र ष ठत क स थ प र कर द ख य ह द श क अन य कई शहर म भ म ट र
  • म म ल कर भ रत क एक स त र म ब ध और भ रत क म ज द स वर प द य एक क शल प रश सक ह न क क रण क तज ञ र ष ट र उन ह ल ह प र ष क र प म भ य द
  • ह ड र न सल म बर क सरद र र व रतन स ह च ङ वत क पत न थ श द क महज एक सप त ह ह आ थ न ह थ क म ह द छ ट थ और न ह प र क आलत स बह क समय
  • व ल म न न क न ल न च र स ट र आट ज स एव कल चर पक ष य क रखन और प लन क क र य म कभ - कभ स ट र एट ड फ च भ कहत ह एक छ ट प स र इन पक ष

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →