ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 170



                                               

धमार

धमार का जन्म ब्रज भूमि के लोक संगीत में हुआ। इसका प्रचलन ब्रज के क्षेत्र में लोक- गीत के रूप में बहुत काल से चला आता है। इस लोकगीत में वर्ण्य- विषय राधा- कृष्ण के होली खेलने का था। रस शृंगार था और भाषा थी ब्रज। ग्रामों के उन्मूक्त वातावरण में द्र ...

                                               

ध्रुपद

नाट्यशास्र के अनुसार वर्ण, अलंकार, गान- क्रिया, यति, वाणी, लय आदि जहाँ ध्रुव रूप में परस्पर संबद्ध रहें, उन गीतों को ध्रुवा कहा गया है। जिन पदों में उक्त नियम का निर्वाह हो रहा हो, उन्हें ध्रुवपद अथवा ध्रुपद कहा जाता है। शास्रीय संगीत के पद, ख़या ...

                                               

ध्वनि-पट्टी

ध्वनि-पट्टी या साउंडट्रैक वो अंकित संगीत है जिसे किसी फिल्म, पुस्तक, टेलीविजन कार्यक्रम या वीडियो गेम की छवियों के साथ संक्रमित किया जा सकता है। व्यावसायिक रूप से जारी किसी फिल्म या टीवी कार्यक्रम की साउंडट्रैक एल्बम उस फिल्म या टीवी कार्यक्रम की ...

                                               

नारायण तीर्थ

                                               

पकड़

                                               

पखावज

पखावज एक वाद्ययंत्र है। यह उत्तर-भारतीय शैली का ढ़ोलक है। यह मृदंग के आकार प्रकार का परन्तु उससे कुछ छोटा एक प्रकार का बाजा है। तबले की उत्पत्ति इसी यंत्र से हुई है। कहा जाता है कि अमीर खुसरो पखावज बजारहे थे। उसी समय यह दो टुकड़ों में टूट गया। तब ...

                                               

परदा (वाद्य)

परदा तंतुवाद्यों के तनों या अन्य ढांचों पर बनी उन धातु, लकड़ी या प्लास्टिक की उन उभरी लकीरों को कहते हैं जिनपर दबाने से किसी बजाये जाने वाले तार का सुर बदल जाता है। आमतौर से सितार में १३, १६ या १९ परदे रहते हैं और अन्य वाद्यों में भी इनकी अलग-अलग ...

                                               

पाश्चात्य संगीत

                                               

प्रयाण गीत

                                               

फाग

फाग होली के अवसर पर गाया जाने वाला एक लोकगीत है। यह मूल रूप से उत्तर प्रदेश का लोक गीत है पर समीपवर्ती प्रदेशों में भी इसको गाया जाता है। सामान्य रूप से फाग में होली खेलने, प्रकृति की सुंदरता और राधाकृष्ण के प्रेम का वर्णन होता है। इन्हें शास्त्र ...

                                               

फ्यूजन संगीत

फ्यूजन संगीत, संगीत की दो या दो से अधिक शैलियों को मिलाकर प्राप्त हुया संगीत है। फ्यूजन अंग्रेजी भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है विलय या मेल, चूँकि इस प्रकार के संगीत का प्रादुर्भाव पश्चिमी देशों में हुआ और वहाँ से यह भारत आया इसीलिए हिन्दी मे ...

                                               

बिस्मिल्ला ख़ाँ

उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ाँ हिन्दुस्तान के प्रख्यात शहनाई वादक थे। उनका जन्म डुमराँव, बिहार में हुआ था। सन् 2001 में उन्हें भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया। वह तीसरे भारतीय संगीतकार थे जिन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया है।

                                               

बृहद्देशी

बृहद्देशी संगीत से संबन्धित संस्कृत ग्रंथ है। इसके रचयिता मतंग मुनि थे। भरतकृत नाट्यशास्त्र के समान यह ग्रंथ भी संगीत के विकास में बहुत महत्त्वपूर्ण है। मतंग मुनि ने इस ग्रंथ में देशी रागों का विवरण दिया है, इसलिए इस ग्रंथ का नाम बृहदेशी है। इसमे ...

                                               

बॉलीवुड संगीत

बॉलीवुड संगीत या हिन्दी फ़िल्म संगीत प्रमुखतः भारत में हिन्दी सिनेमा की फिल्मों में प्रयुक्त संगीत को कहा जाता है। बॉलीवुड संगीत इंडियन पॉप शैली में बनाया जाता है, हालांकि इसमें क्लासिकल तथा मॉडर्न, दोनों संगीत शैलियों से मिली प्रेरणा शामिल होती ...

                                               

बोहेमिया

2000 की शुरुआत में वह ऑकलैंड में अपने चचेरे भाई में शामिल होने के लिए गए, जो एक वेस्ट ऑकलैंड रिकॉर्डिंग स्टूडियो में काम कर रहे थे, और उन्होंने उन्हें Sha One सेठ एग्रेस नामक एक युवा हिप-हॉप निर्माता से मिलवाया। यह पता चलता है कि दोनों ने संगीत म ...

                                               

भारतीय संगीत का इतिहास

प्रगैतिहासिक काल से ही भारत में संगीत कीसमृद्ध परम्परा रही है। गिने-चुने देशों में ही संगीत की इतनी पुरानी एवं इतनी समृद्ध परम्परा पायी जाती है। माना जाता है कि संगीत का प्रारम्भ सिंधु घाटी की सभ्यता के काल में हुआ हालांकि इस दावे के एकमात्र साक् ...

                                               

भीमसेन जोशी

पंडित भीमसेन गुरुराज जोशी शास्त्रीय संगीत के हिन्दुस्तानी संगीत शैली के सबसे प्रमुख गायकों में से एक है।

                                               

मंजीरा

मंजीरा भजन में प्रयुक्त होने वाला एक महत्वपूर्ण वाद्य है। इसमें दो छोटी गहरी गोल मिश्रित धतु की बनी कटोरियाँ जैसी होती है। इनका मध्य भाग गहरा होता है। इस भाग में बने गड्ढे के छेद में डोरी लगी रहती है। ये दोनों हाथों से बजाए जाते हैं, दोनों हाथों ...

                                               

यूरोपीय शास्त्रीय संगीत

यूरोपीय शास्त्रीय संगीत या क्लासिकल म्युजिक मोटे तौपर क्लासिकल युग के यूरोपीय संगीत को कहते हैं। किन्तु वृहद अर्थ में छठी शताब्दी से वर्तमान काल तक के परम्परागत यूरोपीय संगीत का नाम क्लासिकल म्युजिक है।

                                               

राग बसंत

राग बसंत या राग वसंत शास्त्रीय संगीत की हिंदुस्तानी पद्धति का राग है। वसंत का अर्थ वसंत ऋतु से है, अतः इसे विशेष रूप से वसंत ऋतु में गाया बजाया जाता है। इसके आरोह में पाँच तथा अवरोह में सात स्वर होते हैं। अतः यह औडव-संपूर्ण जाति का राग है। वसंत ऋ ...

                                               

राग रॉक

                                               

राजस्थान का संगीत

राजस्थान का संगीत एक संगीत है राजस्थान जो भारत का एक राज्य है। इसके प्रमुख संगीत के क्षेत्र जोधपुर,जयपुर,जैसलमेर तथा उदयपुर इत्यादि माने जाते हैं। ऐसा ही संगीत नज़दीकी राष्ट्र पाकिस्तान में भी सुनने को मिलता है।

                                               

रिद्म एंड ब्लूज़

रिद्म एंड ब्लूज़ एक संगीत की शैली है जिसे 1940 और 1950 के दशक के शुरू में अफ्रीकी अमेरिकियों द्वारा शुरु किया गया था। जैज़, गॉस्पल या हिप हॉप संगीत संयुक्त कर्ता है। १९४८ में जैरी वेक्ष्लर ने इस शब्द को प्रयोग करना शुरु किया था।

                                               

लक्ष्मीनारायण गर्ग

डॉ॰ लक्ष्मीनारायण गर्ग विश्वविख्यात हास्यकवि "पद्मश्री" स्वर्गीय काका हाथरसी के पुत्र हैं। इनका जन्म उत्तर प्रदेश के हाथरस नगर में २९ अक्टूबर सन १९३२ को एक सभ्रांत कला-प्रेमी परिवार में हुआ था। लक्ष्मीनारायण गर्ग ने संगीत शिक्षा पाँच वर्ष कि उम्र ...

                                               

वीणा

वीणा भारत के लोकप्रिय वाद्ययंत्र में से एक है जिसका प्रयोग प्राय: शास्त्रीय संगीत में किया जाता है। वीणा सुर ध्वनिओं के लिये भारतीय संगीत में प्रयुक्त सबसे प्राचीन वाद्ययंत्र है। समय के साथ इसके कई प्रकार विकसित हुए हैं रुद्रवीणा, विचित्रवीणा इत् ...

                                               

वृन्दगान

वृन्दगान या कोरस दो अथवा दो से अधिक व्यक्तियों का सामूहिक रूप से गान अथवा सहगान मंडली। यह शब्द मूलत: यूनानी है और अंगरेजी के माध्यम से भारतीय भाषाओं में प्रविष्ट हुआ है तथा नाटक अथवा सार्वजनिक स्टेज पर सामूहिक रूप में किए जानेवाले गायन के लिये प् ...

                                               

शहनाई

शहनाई भारत के सबसे लोकप्रिय वाद्ययंत्र में से एक है जिसका प्रयोग शास्त्रीय संगीत से लेकर हर तरह के संगीत में किया जाता है। स्वर्गीय उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ां भारत में शहनाई के सबसे प्रसिद्ध वादक समझे जाते हैं। यह लकड़ी से बना होता है, जिसके एक सिरे ...

                                               

शास्त्रीय संगीत

भारतीय शास्त्रीय संगीत या मार्ग, भारतीय संगीत का अभिन्न अंग है। शास्त्रीय संगीत को ही ‘क्लासिकल म्यूजिक भी कहते हैं। शास्त्रीय गायन ध्वनि-प्रधान होता है, शब्द-प्रधान नहीं। इसमें महत्व ध्वनि का होता है । इसको जहाँ शास्त्रीय संगीत-ध्वनि विषयक साधना ...

                                               

संगीत गोष्ठी

पहले गायक या वादक अपने गायन या वादन का प्रदर्शन राजाओं या रईसों के सम्मुख करता था अथवा किसी धार्मिक उत्सव के समय मंदिरों में करता था। कभी-कभी वह मेले इत्यादि में भी जाकर अपनी कला का प्रदर्शन करता था। किंतु उसके पास ऐसा कोई साधन नहीं था जिसके द्वा ...

                                               

संगीत तथा गणित

संगीत के सिद्धान्तकार इसे समझने के लिए कभी-कभी गणित का प्रयोग करते हैं। यद्यपि संगीत का कोई ठीक-ठीक गणितीय सिद्धान्त नहीं है किन्तु इसमें कोई सन्देह नहीं है कि संगीत, ध्वनि से बनी है तथा ध्वनि का गणितीय आधार अब सर्वविदित है। विज्ञान व गणित का चोल ...

                                               

संगीत नाटक अकादमी

भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने एक संसदीय प्रस्ताव द्वारा एक स्वायत्त संस्था के रूप में संगीत नाटक अकादमी की स्थापना करने का निर्णय किया। तदनुसार 1953 में अकादमी की स्थापना हुई। 1961 में अकादमी भंग कर दी गई और इसका नए रूप में संगठन किया गया। 186 ...

                                               

संगीत पारिजात

संगीत पारिजात संगीत का एक महत्वपूर्ण ग्रन्थ है जिसकी रचना पण्डित अहोबल ने 17वीं शताब्दी में की थी। दीनानाथ मिश्र जी ने फ़ारसी भाष में इसका अनुवाद किया। यह पुस्तक 1650 ई0 में लिखी गई। इसमें सबसे पहले वीणा के तापर बारह स्वरों की स्थापना की गई। लोचन ...

                                               

संगीत शैली

अलग संगीतकारों की अपनी शैली होती है। पर इनके संगीत को अलग समयबद्ध करके अलग-अलग भावनाओं के अंतर्गत डाला जाए, तो उन शैलियों को संगती शैली कहते हैं। लोकप्रिय शैलियाँ - देशभक्ति, शोक, प्रेम,

                                               

संगीतज्ञ

भारतीय शास्त्रीय संगीत के विद्बान, जिसमें हिंदुस्तानी संगीत पद्धति के विद्बान और कर्णाटक संगीत पद्धति के विद्वान दोनों ही शामिल हैं। संगीतज्ञ कहलाते हैं। ये गायक, वादक या नर्तक किसी भी विधा के विद्वान हो सकते हैं।

                                               

संगीतरत्नाकर

संगीतरत्नाकर शारंगदेव द्वारा रचित संगीतशास्त्रीय ग्रंथ है। यह भारत के सबसे महत्वपूर्ण संगीतशास्त्रीय ग्रंथों में से है जो हिन्दुस्तानी संगीत तथा कर्नाटक संगीत दोनो द्वारा समादृत है। इसे सप्ताध्यायी भी कहते हैं क्योंकि इसमें सात अध्याय हैं। भरतमुन ...

                                               

सरगम

संगीत के सुरों का नाम सरगम दिया गया है। सरगम शब्द प्रथम चार सुरों के नामों के प्रथम अक्षर के मेल से बनाया गया है और एक प्रकार से इसे संक्षिप्तीकरण भी कह सकते हैं। संगीत के मुख्य सात सुर होते हैं जिनके नाम षडज्, ऋषभ, गांधार, मध्यम, पंचम, धैवत और न ...

                                               

सरोद वादक

अमान अली शरण रानी उस्ताद यसराज सुदर्शन राजोपाध्याय आशीष खान उस्ताद अलाउद्दीन खाँ दौलत खाँ अमित गोस्वामी अली अक़बर ख़ाँ अमजद अली ख़ाँ अयान अली खाँ राजीव तारानाथ विश्वजित रॉय चौधरी उस्ताद हाफिज अली खान

                                               

सिंफनी

सिंफनी यूरोपीय वृंदगान की विशिष्ट शैली का नाम है। यह शब्द यूनानी भाषा का है जिसका अर्थ है "सहवादन"। 16वीं शती में गेय नाटक के बीच में जो वृंदवादन के भाग होते थे उन्हें सिंफनी कहते थे। इसका विकसित रूप इतना सुंदर हो गया कि वह गेय नाटक के अतिरिक्त स ...

                                               

सुगम संगीत

सुगम संगीत भारतीय संगीत विद्या का एक अंग है। वह संगीत जिसमें जिसे सहजता से सीखा और गाया बजाया जा सके, जिसे निश्चित नियमों में बाँधा नहीं गया है, जो लोक में प्रिय है, सुगम संगीत कहलाता है। लोक गीत, लोकप्रिय संगीत, भजन, फ़िल्मी गीत आदि इसी श्रेणी म ...

                                               

सुरपेटी

                                               

स्वरित्र

स्वरित्र एक सरल युक्ति है जो मानक आवृत्ति की ध्वनि पैदा करने के काम आती है। संगीत के क्षेत्र में इसका उपयोग एक मानक पिच उत्पादक के रूप में अन्य वाद्य यंत्रों को ट्यून करने में होती है। यह देखने में अंग्रेजी के यू आकार वाले फोर्क की तरह होता है। य ...

                                               

हाफिज अली खान पुरस्कार

भारत के प्रसिद्ध सरोद वादक उस्ताद अमजद अली खान द्वारा अपने पिता तथा गुरू हाफिज अली खान की स्मृति में सन् 1985 में शुरु किया गया। यह पुरस्कार प्रत्एक वर्ष संगीत के क्षेत्र में उल्लेखनीए योगदान करने वाले व्यक्ति को प्रदान किया जाता है। वर्ष 2009 के ...

                                               

हिप हॉप संगीत

हिप हॉप संगीत या रैप संगीत एक संगीत का प्रकार हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में शुरू किया १९७०-१९८० सालों में|

                                               

हेल्पǃ -एल्बम

हेल्प! अंग्रेजी रॉक समूह बीटल्स द्वारा पांचवीं स्टूडियो एलबम है, और उनकी फिल्म हेल्प! से साउंडट्रैक है। जॉर्ज मार्टिन द्वारा प्रड्यूस की गयी, यह एल्बम में ब्रिटिश तरीके में 14 गाने हैं। इनमे से सात गाने, जिनमे "Help!" और "Ticket to Ride" भी शामिल ...

                                               

होली लोकगीत

होली उत्तर भारत का एक लोकप्रिय लोकगीत है। इसमें होली खेलने का वर्णन होता है। यह हिंदी के अतिरिक्त राजस्थानी, पहाड़ी, बिहारी, बंगाली आदि अनेक प्रदेशों की अनेक बोलियों में गाया जाता है। इसमें देवी देवताओं के होली खेलने से अलग शहरों में लोगों के होल ...

                                               

भौगोलिक वर्गीकरण के अनुसार संगीत

                                               

अल्बम

                                               

ओपेरा

                                               

कव्वाली

                                               

गायक

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →