ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 147



                                               

नाखून चबाना

नाखून चबाना या नाखून कुतरना, जिसे ऑनिकोफैगी या ओनिकोफेगिया के नाम से भी जाना जाता है, एक मौखिक बाध्यकारी आदत है। इसे कभी-कभी एक असामान्य गतिविधि के रूप में वर्णित किया जाता है, जिसमें मुंह का उपयोग उसकी सामान्य गतिविधियां जैसे बोलने, खाने या पीने ...

                                               

फोबिया

दुर्भीति या फोबिया एक प्रकार का मनोविकार है जिसमें व्यक्ति को विशेष वस्तुओं, परिस्थितियों या क्रियाओं से डर लगने लगता है। यानि उनकी उपस्थिति में घबराहट होती है जबकि वे चीजें उस वक्त खतरनाक नहीं होती है। यह एक प्रकार की चिन्ता की बीमारी है। इस बीम ...

                                               

बहुव्यक्तित्व विकार

व्यक्तित्व की दो परस्परविरोधी अथवा सर्वथा भिन्न शैलियों का उसकी एक ही इकाई में अपनी पृथक्‌ सत्ता सुरक्षित रखते हुए, इकट्ठे रहने का बोध द्विव्यक्तित्व है। एक ही व्यक्ति के घेरे में रहकर भी ये अपने में सुसंबद्ध एवं व्यवस्थित होते हैं; एक दूसरे के प ...

                                               

मनोग्रसित-बाध्यता विकार

मनोग्रसित-बाध्यता विकार एक तरह का चिन्ता विकार है। इस विकार से ग्रसित व्यक्ति एक ही चीज की बार-बार जाँच करने की आवश्यकता अनुभव करता है, कुछ विशेष कामों को बार-बार करता है, या कुछ विचार उसके मन में बार-बार आते हैं। अर्थात उस व्यक्ति में बाध्यताओं ...

                                               

मनोदशा स्थिरता

मनोदशा स्थिरता मनोरोग चिकित्सा का एक रूप है जिसका उपयोग मनोदशा विकार का उपचार करने के लिए किया जाता है, जिसे तीव्और निरंतर मनोदशा परिवर्तन, विशेष कर द्विध्रुवी विकार के रूप में चरितार्थ किया जाता है।

                                               

मनोविदलता

मनोविदलता या विखंडित मानसिकता एक मानसिक विकार है। इसकी विशेषताएँ हैं- असामान्य सामाजिक व्यवहार तथा वास्तविक को पहचान पाने में असमर्थता। लगभग 1% लोगो में यह विकार पाया जाता है। इस रोग में रोगी के विचार, संवेग तथा व्यवहार में आसामान्य बदलाव आ जाते ...

                                               

विभ्रांति

बिना किसी वाह्य उद्दीपन के ही एक मिथ्या प्रत्यक्षण होना विभ्रांति कहलाता है। यह प्रत्यक्षण मिथ्या होने पर भी वास्तविक जैसा प्रतीत होता है।

                                               

स्मृतिलोप

मस्तिष्क की क्षति या मस्तिष्क के किसी रोग के कारण से याद करने की क्षमता में जो कमी आती है उसे स्मृतिलोप कहते हैं। किन्तु कुछ दवाओं के सेवन के कारण भी अस्थायी रूप से कम समय के लिए स्मृतिलोप दकी समस्या देखने को मिल सकता है। स्मृतिलोप मुख्यतः दो प्र ...

                                               

आर्टिमीसिनिन

आर्टिमीसिनिन, एक दवा है जिसका प्रयोग प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम से पैदा होने वाले उस मलेरिया के इलाज में किया जाता है जो विभिन्न दवाओं से प्रतिरोधकता प्राप्त कर चुका हो। यह आर्टिमीसिया नामक एक पौधे से प्राप्त किया जाता है। इसका प्रयोग चीनी लोग अपनी ...

                                               

एनोफ़िलीज़

एनोफ़िलीज़, मच्छरों का एक वंश हैं। इसमें लगभग 400 जातियां हैं। जिनमें से 30 से 40 जितियां मलेरिया रोग का वहन करती हैं। सभी मच्छरों की तरह ही इसके जीवन चक्र की चार अवस्थाएं हैं: अण्डा, लारवा,प्यूपा एंव व्यस्क. पहली चार अवस्थाएं जल के अंदर पूरी होत ...

                                               

कालापानी बुखार

कालापानी बुखार, मलेरिया के रोगी में उत्पन्न होने वाली एक खतरनाक अवस्था है। इसमे वृक्क नष्ट होने की संभावना अत्यंत बढ़ जाती है क्योंकि मूत्र में हीमोग्लोबिन आना शुरू हो जाता है। इसका कारण प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम नामक एक परजीवी प्रोटोज़ोआ है। जो मा ...

                                               

कुनैन

कुनैन एक प्राकृतिक श्वेत क्रिस्टलाइन एल्कलॉएड पदार्थ होता है, जिसमें ज्वर-रोधी, मलेरिया-रोधी, दर्दनाशक, सूजन रोधी गुण होते हैं। ये क्वाइनिडाइन का स्टीरियो समावयव होता है, जो क्विनाइन से अलग एंटिएर्हाइमिक होता है। ये दक्षिण अमेरिकी पेड़ सिनकोना पौ ...

                                               

जी6पीडी

ग्लूकोज़ 6 फ़ॉस्फ़ेट डीहाइड्रोजनेज़ एक प्रकार का किण्वक है जो लाल रक्त कोशिका को आक्सीकारक दबाव से बचाता है। इस किण्वक के अभाव से भी गंभीर मलेरिया से सुरक्षा मिल जाती है।

                                               

डफ़ी एंटीजन

डफ़ी एंटीजन वे एंटीजन होते है जो लाल रक्त कोशिका तथा शरीर की अन्य कोशिकाओं पर कीमोकाइन ग्राहक के रूप में काम करते हैं। इनकी अभिव्यक्ति एफ.वाई. जीन के द्वारा होती है। पी. विवैक्स मलेरिया रक्त कोशिका में प्रवेश करने हेतु डफी एंटीजन का प्रयोग करता ह ...

                                               

डीडीडी१०७४९८

वैज्ञानिकों द्वारा एक विशेष एंटी-मलेरिया यौगिक डीडीडी107498 की खोज की गयी है जो प्रोटीन संश्लेषण को रोकता है। खोज से संबंधित अध्ययन पत्रिका नेचर में 18 जून 2015 को प्रकाशित किया गया। इस यौगिक में मलेरिया रोधी दवा के सभी गुण मौजूद पाए गये जो कि प् ...

                                               

प्रजीवगण

प्रजीवगण एक एककोशिकीय जीव है। इनकी कोशिका यूकरयोटिक प्रकार की होती है। ये साधारण सूक्ष्मदर्शी यंत्र से आसानी से देखे जा सकते हैं। कुछ प्रोटोज़ोआ जन्तुओं या मनुष्य में रोग उत्पन्न करते हैं, उन्हे रोगकारक प्रोटोज़ोआ कहते हैं। प्रोटोज़ोआ ऐसे प्राणिय ...

                                               

प्लास्मोडियम

प्लास्मोडियम एक प्रोटोज़ोआ संघ का प्राणी है। प्लास्मोडियम की कुछ जातियों को मलेरिया परजीवी भी कहते हैं क्योंकि ये मनुष्य मे मलेरिया रोग उत्पन्न करती हैं।

                                               

प्लास्मोडियम ओवेल

प्लास्मोडियम ओवेल एक परजीवी प्रोटोज़ोआ की प्रजाती है। इसके कारण मनुष्य में टरसियन मलेरिया होता है। इसका प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम तथा प्लास्मोडियम विवैक्स से नजदीकी सबंध है जिनके कारण अधिकांश लोंगो को मलेरिया होता है। यह इन दो प्रजातीयों के मुकाबले ...

                                               

प्लास्मोडियम नाउलेसी

प्लास्मोडियम नाउलेसी एक प्रकार का प्रोटोज़ोआ है। इसके कारण मलेरिया रोग होता है, परंतु मनुष्य में इसके द्वारा रोग होने की संभावना अत्यंत कम होती है। यह कुछ प्रजाती के बन्दरों को सेक्रमित करता है।

                                               

प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम

                                               

प्लास्मोडियम मलेरिये

प्लास्मोडियम मलेरिये एक प्रकार का प्रोटोज़ोआ है, जो बेनाइन मलेरिया के लिये जिम्मेदार है। यह पूरे संसार में पाया जाता है। यह मलेरिया उतना खतरनाक नहीं है जितना प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम तथा प्लास्मोडियम विवैक्स के द्वारा पैदा किया मलेरिया होता है। मल ...

                                               

प्लास्मोडियम विवैक्स

प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम एक प्रकार का प्रोटोज़ोआ है, जो विवैक्स मलेरिया के लिये जिम्मेदार है। मलेरिया के इस परजीवी का वाहक मादा एनोफ़िलेज़ मच्छर है।

                                               

मच्छर

मच्छर एक हानिकारक कीट है। यह संसार के प्राय सभी भागो में पाया जाता है। यह विभिन्न प्रकार के रोंगो के जीवाणुओं को वहन करता है। मच्छर गड्ढ़े, तालाबों, नहरों तथा स्थिर जल के जलाशयों के निकट अंधेरी और नम जगहों पर रहता है। मच्छर एकलिंगी जन्तु हैं यानी ...

                                               

मलेरिया एटलस परियोजना

                                               

मलेरिया कल्चर

शरीर के बाहर बाह्य वातावारण में मलेरिया परजीवी के संवर्धन की क्रिया को मलेरिया कल्चर कहते हैं। प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम एक मात्र मलेरिया परजीवी है जिसका प्रयोगशाला में सफलता पूर्वक कल्चर किया गया है। सर्वप्रथम 1912 में इस परजीवी को शरीर के बाहर कल ...

                                               

मलेरिया का उपचार

पी. फैल्सीपैरम मलेरिया को आपातकालीन मामला माना जाता है तथा मरीज को पूर्णतया स्वस्थ होने तक चिकित्सकीय निगरानी मे रखना अनिवार्य माना जाता है। किंतु अन्य परजीवियों के संक्रमण वाले मरीजों का इलाज बहिरंग विभाग में भी किया जा सकता है। उचित इलाज होने प ...

                                               

मलेरिया का निदान

गंभीर मलेरिया को अफ्रीका मे प्रायः पहचान लेने में गलती होती है, जिसके चलते अन्य प्राणघातक बीमारियों का इलाज भी नहीं हो पाता है। रक्त में परजीवी की मौजूदगी केवल गंभीर मलेरिया से ही नहीं, अन्य कई जानलेवा बीमारियों के चलते भी हो सकती है। हाल के अध्य ...

                                               

मलेरिया का मानव जीनोम पर प्रभाव

मलेरिया हाल के इतिहास में मानव जीनोम पर सबसे अधिक प्रभाव डालने वाला रोग रहा है। इसी कारण मलेरिया से बड़ी मात्रा में लोगों की मृत्यु होती है| यह मानव जीनोम पर अनेक प्रकार से प्रभाव डालता है। एचएलए बी 53 की मौजूदगी से गंभीर मलेरिया की संभावना कम हो ...

                                               

मलेरिया की रोकथाम तथा नियंत्रण

मलेरिया का प्रसार इन कारकों पर निर्भर करता है- मानव जनसंख्या का घनत्व, मच्छरों की जनसंख्या का घनत्व, मच्छरों से मनुष्यों तक प्रसाऔर मनुष्यों से मच्छरों तक प्रसार। इन कारकों में से किसी एक को भी बहुत कम कर दिया जाए तो उस क्षेत्र से मलेरिया को मिटा ...

                                               

रोगवाहक

रोगवाहक वे प्राणी हैं, जो संक्रामक रोगों को एक रोगी से निरोग व्यक्ति में फैलाते हैं। ऐसे प्राणी जो किसी तरह रोगजनक विषाणु आदि का किसी अन्य स्वस्थ जीव तक ले जा कर उसे रोग से ग्रसित करते हैं, अर्थात रोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने का का ...

                                               

लाल रक्त कोशिका

लाल रक्त कोशिका, रक्त की सबसे प्रमुख कोशिका है। यह पूरे रूधिर का 40% भाग होता है यह रीढ़धारी जन्तुओं के श्वसन अंगो से आक्सीजन लेकर उसे शरीर के विभिन्न अंगों की कोशिकाओं तक पहुंचाने का सबसे सहज और व्याप्त माध्यम है। इस कोशिका में केन्द्रक नहीं होत ...

                                               

लिवरपूल स्कूल ऑफ़ ट्रॉपिकल मेडिसिन

लिवरपूल स्कूल ऑफ़ ट्रॉपिकल मेडिसिन की स्थापना 12 नवम्बर 1898 में इंग्लैंड में हुई थी। यह अपनी तरह का पहला विद्दालय था। इसकी स्थापना के लिये सर अल्फ्रेड लेविस ने £350 का दान दिया था। इस विद्दालय के कई योगदान हैं विशेषतः मलेरिया के संबध में। जिसके ...

                                               

विश्व मलेरिया दिवस

विश्व मलेरिया दिवस प्रत्येक वर्ष 25 अप्रैल को मनाया जाता है यह दिन इस बात के लिए भी पहचाना जाता है कि मलेरिया के नियंत्रण हेतु किस प्रकार के वैश्विक प्रयास किए जा रहे हैंमच्छरों के कारण फैलने वाली इस बीमारी में हर साल कई लाख लोग जान गवाँ देते हैं ...

                                               

सिनकोना

सिनकोना एक सदाबहार पादप है जो झाड़ी अथवा ऊँचे वृक्ष के रूप में उपजता है। यह रूबियेसी कुल की वनस्पति है। इनकी छाल से कुनैन नामक औषधि प्राप्त की जाती है जो मलेरिया ज्वर की दवा है। यह बहुवर्षीय वृक्ष सपुष्पक एवं द्विबीजपत्री होता है। इसके पत्ते लालि ...

                                               

हंसिया-कोशिका रोग

हंसिया-कोशिका रोग के संबंध में मानव जीनोम पर मलेरिया के प्रभाव का विस्तृत अध्ययन किया गया है। इस रोग में हीमोग्लोबिन के बीटा-ग्लोबिन खंड को बनाने वाली जीन एच.बी.बी. में उत्परिवर्तन हो जाता है। सामान्यतः बीटा ग्लोबिन प्रोटीन के छठे स्थान पर एक ग्ल ...

                                               

मस्तिष्क की चोट

मस्तिष्क की चोट यह है जो मस्तिष्क में होने वाली चोट जो जीवित अंगी मैं होती है। मस्तिष्क की चोटों के कई आयामों के साथ वर्गीकृत किया जा सकता है। प्राथमिक और माध्यमिक मस्तिष्क की चोट डो भागो में भाटा गया है।

                                               

अंडाशय कैंसर

अंडाशय कैंसर, डिम्बग्रंथि का कैंसर हैं जो अंडाशय में होता हैं। जिसके परिणामस्वरूप असामान्य कोशिकाएँ शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाती हैं व उन पर आक्रमण करने लगती हैं। जब ये प्रक्रिया शुरू होती हैं, तो उसका कोई अस्पष्ट लक्षण हो भी सकता हैं और नही ...

                                               

अंतर्गर्भाशय अस्थानता

अंतर्गर्भाश्य अस्थानता स्त्रियों के अंतर्गर्भाशयकला में होने वाली एक समस्या है जिसमें मासिक धर्म के दौरान दर्द होना, यौन संबंध बनाते समय दर्द होना जैसे प्रमुख लक्षण दिखाई पड़ते हैं। एक अपक्षयी सिंड्रोम है जो अंतर्गर्भाशयकला एंडोमेट्रियम के किनारे ...

                                               

असमस्तनता

असमस्तनता वह स्तन रोग हैं जिसमें स्तनों के आकार में गंभीर विषमता या असमानता पाई जाती हैं, जिससे स्तनों में अंतर दिखाई देता हैं। अर्थात जब दोनों स्तनों में बहुत अधिक अंतर दिखाई देने लगता हैं तब इस रोग का निर्णय होता हैं। इलाज असमस्तनता सर्जिकल स्त ...

                                               

गर्भाशय टूटना

गर्भाशय टूटना तब होता है जब गर्भावस्था या प्रसव के दौरान गर्भाशय की मांसपेशी फूट जाती हैं। शास्त्रीय रूप से बढ़ते दर्द, योनि रक्तस्राव, या संकुचन में परिवर्तन सहित लक्षण हमेशा मौजूद नहीं होते हैं। इससे मां या बच्चे की विकलांगता या मृत्यु का परिणा ...

                                               

गर्भाशय में रसौली

गर्भाशय में रसौली, जिसे गर्भाशय लेयोओमामा या फाइब्रॉएड भी कहा जाता है, गर्भाशय के सौम्य चिकनी मांसपेशियों के ट्यूमर होते हैं। ज्यादातर महिलाओं में कोई लक्षण नहीं होता है जबकि अन्य दर्दनाक या भारी माहवारी हो सकती हैं। एक महिला में एक गर्भाशय रसौली ...

                                               

गर्भाशयग्रीवा अजनन

गर्भाशयग्रीवा अजनन या ग्रैव अजनन स्त्रियों की जननांग प्रणाली का एक जन्मजात विकार है जो गर्भाशय की अनुपस्थिति में खुद को प्रकट करता है और गर्भाशय और योनि के बीच एक कनेक्टिंग संरचना बनता हैं। इस स्थिति में गर्भाशय विकृत और गैर-कार्यात्मक रूप में मौ ...

                                               

छिद्रहीन योनिच्छद

छिद्रहीन योनिच्छद एक जन्मजात विकार है जहां खुलने के बिना एक हाइमेन पूरी तरह से योनि को बाधित करता है। यह गर्व के विकास के दौरान हाइमेन को छिड़काव की विफलता के कारण होता है। यह अक्सर युवा लड़कियों में निदान किया जाता है जब मासिक धर्म रक्त योनि में ...

                                               

ट्यूबरस स्तन

ट्यूबरस स्तन का रोग जन्मजात असामान्यता का परिणाम हैं जो पुरुषों और महिलाओं दोनों में पाया जाता हैं। यह समस्या युवावस्था के दौरान स्तन विकास में कमी के कारण और जब स्तन सामान्य रूप से और पूरी तरह से विकसित करने में विफल हो जातें हैं तब वह ट्यूबरस स ...

                                               

डिम्बग्रंथि मिरगी रोग

डिम्बग्रंथि मिरगी अंडाशय के अचानक टूट जाने से होती हैं। आमतौपर यह डिम्बग्रंथि ऊतक पर सीस्ट के रूप में और इंट्रापेरिटोनियल रक्तस्राव में पाई जाती हैं। यौन परिपक्व महिलाओं के अंडाशय में, संभावित उर्वरक के लिए तैयार करने के लिए, फ़ोलीकल्स बढ़ते हैं, ...

                                               

तंतुप्रत्यास्थ स्तन बदलाव

फाइब्रोसाइटिक स्तन या फाइब्रोसाइटिक स्तन रोग या तंतुप्रत्यास्थ स्तन की वह स्थिति हैं जिसे आमतौपर "एफबीसी" कहा जाता है। यह ३०-६०ऽ% महिलाओं के स्तन उतक को प्रभीवित करने वाला रोग हैं। यह कैंसरमुक्त स्तन गांठों द्वारा वर्गित किया जाता हैं जो असुविधा ...

                                               

नाबोथियन पुटी

नाबोथियन सिस्ट गर्भाशय की सतह पर एक श्लेष्म से भरा सीस्ट है। यह अक्सर होते हैं जब एक्टोकर्विक्स के स्तरीकृत स्क्वैमस एपिथेलियम एंडोकर्विक्स के सरल कॉलमर उपकला पर बढ़ता है। यह ऊतक वृद्धि गर्भाशय ग्रीवा क्रिप्ट्स को अवरुद्ध कर सकती है, जो क्रिप्ट्स ...

                                               

फय्ल्लोडेस ट्यूमर

फय्ल्लोडेस ट्यूमर, सिस्टोसारकोमा फय्ल्लोडेस, सिस्टोसारकोमा फय्ल्लोडेस आमतौपर स्तन के पेरीडकटल स्ट्रॉमल कोशिकाओं से बना है। यह मुख्य रूप से वयस्क महिलाओं का ट्यूमर है जो किशोरावस्था में बहुत कम देखने को मिलता हैं। यह मरीजों में आमतौपर एक फर्म, स्प ...

                                               

योनि असंगतियाँ

योनि असंगतियाँ असामान्य संरचनाएं होती हैं जो मादा प्रजनन प्रणाली के जन्मपूर्व विकास के दौरान गठित होती हैं और दुर्लभ जन्मजात दोष होते हैं जिसके परिणामस्वरूप असामान्य या अनुपस्थित योनि होती है। जब उपस्थित होते हैं, तो वे अक्सर गर्भाशय, कंकाल और मू ...

                                               

योनि खमीर संक्रमण

योनि यीस्ट संक्रमण, जिसे वेडेंटल वल्वोवागिनाइटिस और योनि थ्रश के रूप में भी जाना जाता है, योनि में खमीर का अत्यधिक विकास होता है जिसके परिणामस्वरूप जलन। सबसे आम लक्षण योनि खुजली है, जो गंभीर हो सकता है। अन्य लक्षणों में पेशाब के साथ जलना, सफेद और ...

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →